अमेरिका के ग्रैंड कैनियन के नीचे दबी गुप्त भूमिगत नगरी, खोलने वाली है गोरों के पूर्वजों का राज़

0
1898

आख़िर क्यों छुपा रहा है अमेरिका ये प्राचीन पुरातात्विक खोज ?

क्या अमेरिका ह्यूमन एवोलुशन की एक महत्वपूर्ण खोज सिर्फ इसलिए छुपा रहा क्योंकि उसे अपने पूर्वजों का रहस्य पता लग गया है ?

क्या अमेरिका नहीं चाहता  गोरे यूरोपियन्स की उत्पत्ति के मिस्री कनेक्शन को ज़ाहिर करना ?

जानने के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें जिसमे विश्व के इतिहास की सबसे बड़ी पुरातात्विक खोज को दबा दिया गया।

सन १९०९ में G.E. Kinkaid नामक एक अमेरिकी खोजकर्ता को अमेरिका के एरिज़ोना राज्य की कोलराडो नदी की यात्रा के दौरान एक गुफा दिखी।  यह गुफा ग्रैंड कैनियन नाम की बेहद खड़ी दीवारों वाली घाटी में थी।  चूँकि  G.E. Kinkaid कीमती पत्थरों की खोज में थे उन्होंने गुफा के अंदर जाने का मन बनाया जब वह गुफा के अंदर पहुंचे तो उन्हें Hieroglyphs याने की चित्रलिपियाँ नज़र आयीं। 

कौतूहलवश  वे आगे बढ़ते गए तभी उन्हें लगभग १४८६ फ़ीट नीचे एक और गुफा का मुख दिखाई दिया।  उन्होंने आगे बढ़ते रहने की ठानी और उस दवार के अंदर प्रवेश किया।  यह द्वार उन्हें कई फ़ीट लम्बे गलियारे की तरफ ले गया जिसके अंत में जो उन्हें दिखा वह किसी  के लिए  हैरान कर देने वाला था।  उन्हें एक तहखाना मिला जहाँ अलमारियों के से दिखने वाले खांचों में ममीयां सुरक्षित अवस्था में मौजूद थीं।   ममीयों के साथ उन्हें वहां प्राचीन मिस्र Egypt के कई कलाकृतियां मिलीं।

  उन्होंने उस ज़माने के फ़्लैश लाइट वाले कमरे से फोटोग्राफ्स खींचे और उन्हें  वाशिंगटन के स्मिथसोनियन इंस्टिट्यूट को भेजे। इसकी महत्ता इसलिए भी थी क्योंकि ये खोज मानव क्रमागत उन्नति  या Human Evolution की एक महत्वपूर्ण कड़ी जोड़ने वाली थी।  इस खोज से ये साबित हो जाना था की प्राचीन मिस्र के वासियों ने लम्बी यात्रा कर अमेरिका के एरिज़ोना में बस्ती बसाई और उन्हीं से आज के अमेरिकन्स की उत्पत्ति हुई। 

स्मिथसोनियन  इंस्टिट्यूट ने बिना समय गवाएं एक एक्सपीडिशन की अनुमति दे दी जिसकी कमान Professor S.A. Jordan को दी गयी।  Professor Jordan की टीम जब ग्रैंड कैनियन स्थित गुफा की जांच की तो वह भी हतप्रभ रह गए।  उनहे जो आर्टिफैक्ट्स और ममीयां मिलीं उनसे ये साबित हो रहा था की जो लोग भी वहां रहते थे वह Oriental मूल के थे यानी Egyptian थे। इससे इस तथ्य की पुष्टि होने वाली थी की Egyptian लोगों ने ही नार्थ अमेरिका की सभ्यता की नींव डाली।  यह खबर बाकायदा Arizona Gazette नामक अख़बार में सन १९०९ में छपी जिसकी प्रति आप अपनी स्क्रीन पर अभी देख रहें हैं।  पर यह  खोज अमेरिकयों को पसंद नहीं आयी वह नहीं चाहते थे की उनकी सभ्यता प्राचीन मिस्र की सभ्यता से कमतर आँकी जाए। 

Grand Canyon की Underground City की जानकारी छुपाना और सिरे से इस खोज से जुड़े सारे तथ्य मिटा देना  दुनिया की सबसे बड़ी पुरातात्विक लीपा पोती में आज भी गिना जाता है।  आज इस विलक्षण और दुर्लभ भूमिगत शहर के बारे में कोई भी जानकारी सार्वजनिक तौर पे उपस्थित नहीं है। 

LEAVE A REPLY